Video: पटाखों से प्रदूषण सिर्फ दिवाली को ही होता है क्या? न्यू ईयर पर? उद्योगों से नही होता क्या?

SHOWS / KHARI-KHARI

06 Nov , 2020

खरी खरी। दिवाली आते ही शोर मचाना शुरू हो जाता है वायु प्रदूषण का। ऐसा लगता है कि वायु प्रदूषण सिर्फ दिवाली के समय ही होता है। और दिवाली के जाते ही वायु प्रदूषण का मामला फिर से ठंडे बस्ते में चला जाता है क्योंकि दिवाली के कुछ समय बाद न्यू ईयर आता है। नया साल सारी दुनिया में मनाया जाता है। सारी दुनिया में पटाखे फोड़े जाते हैं तब प्रदूषण नहीं होता क्या? सिर्फ भारत में मनाई जाने वाली दिवाली से ही  प्रदूषण होता है क्या? पटाखों से प्रदूषण होता है तो उसके उत्पादन पर रोक लगा दो। उत्पादन की अनुमति क्यों देते हो? बिक्री  की अनुमति क्यों देते हो? रोक लगा दो उत्पादन पर रोक लगा दो बिक्री पर ना उत्पादन होगा ना बिकेगा तो फूटेगा भी नही। ये क्या तरीका है उत्पादन की अनुमति दे रहे हो बिक्री की अनुमति दे रहे हो और फोड़ने पर रोक लगा रहे हो। यह सब रुकना चाहिए। चोचलेबाजी बंद होना चाहिए। और नियम सबके लिए बराबर होना चाहिए। अगर दिवाली पर पटाखे प्रदूषण फैलाते हैं तो न्यू ईयर पर भी प्रदूषण होता है। अगर दिवाली पर प्रतिबंध लगता है तो न्यू ईयर पर भी पटाखे फोड़ने पर प्रतिबंध लगाना चाहिए।

Anil Pusadkar

Latest videos

Recently Live Streamed videos

Popular videos